यूपी बोर्ड : परीक्षा हो या रिजल्ट, पसंदीदा दिन मंगल, गुरुवार और शनिवार

यूपी बोर्ड की परीक्षा शुरू होने और परिणाम घोषित करने में शुभ-अशुभ का विचार भी देखने को मिलता है। बोर्ड के वर्तमान और पूर्व अधिकारी भले ही इस बात को न मानें लेकिन इस सच्चाई को नकारा नहीं जा सकता कि हाईस्कूल और इंटरमीडिएट की बोर्ड परीक्षा आमतौर पर मंगलवार, शनिवार और गुरुवार को शुरू होती है और परिणाम भी प्राय: इन्हीं तीन दिनों में घोषित किए जाते हैं।

मंगलवार और शनिवार प्रयागराज के नगर देवता हनुमान जी का दिन होता है और बृहस्पतिवार शिक्षा की अधिष्ठात्री देवी मां सरस्वती व गुरु का दिन होता है। इस साल 24 अप्रैल, जिस दिन 10वीं-12वीं की परीक्षाएं शुरू हो रही है, को भी शनिवार पड़ रहा है। पिछले साल का परिणाम 27 जून 2020 शनिवार को घोषित हुआ था और परीक्षाएं 18 फरवरी मंगलवार को शुरू हुई थी।

2019 में 7 फरवरी गुरुवार को परीक्षा शुरू हुई थी और 27 अप्रैल शनिवार को परिणाम आया था। 2018 में 6 फरवरी मंगलवार और 2017 में 16 मार्च गुरुवार को परीक्षा शुरू हुई थी। इस तरह से पिछले पांच साल में सिर्फ दो बार ऐसा हुआ है कि जब इन तीन दिनों को छोड़कर अन्य दिनों में बोर्ड ने रिजल्ट घोषित किया हो। 9 जून 2017 शुक्रवार और 29 अप्रैल 2018 रविवार को बोर्ड परीक्षा के परिणाम घोषित किए गए थे। 2016 में 18 फरवरी मंगलवार को परीक्षा शुरू हुई थी।

पूजा के बाद जिलों में प्रश्नपत्र भेजने की है परंपरा
बोर्ड परीक्षा शुरू होने और रिजल्ट घोषित होने तक ही शुभ-अशुभ का विचार देखने को नहीं मिलता। बोर्ड की एक और अनूठी परंपरा है कि 10वीं-12वीं के प्रश्नपत्र हनुमान जी की पूजा करने के बाद जिलों को भेजे जाते हैं। हर साल सचिव गोपनीय कक्ष में पूजा करते हैं और हनुमान जी को लड्डू का प्रसाद चढ़ाया जाता है ताकि परीक्षा निर्विध्न पूरी हो और पेपर लीक या कोई अन्य अशुभ घटना न हो।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *